अब पानी के रास्‍ते जा सकेंगे प्रभु श्रीराम की नगरी अयोध्या , जानिए क्‍या है मोदी सरकार का प्‍लान

0
202

अयोध्या में भगवान राम (Lord Ram) की जन्‍मस्‍थली पर टूरिस्‍ट बढ़ाने के लिए मोदी सरकार ने शानदार योजना तैयार की है. केंद्र सरकार जल्द ही इस पवित्र शहर में सरयू नदी (Saryu River) पर रामायण क्रूज टूर (Ramayan Cruise tour) सेवा शुरू करेगी.

क्रूज सेवा के लिए एक बैठक में केंद्रीय जहाजरानी, जलमार्ग राज्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने परियोजना की समीक्षा की.

मंत्रालय के मुताबिक अयोध्या की सरयू नदी में पहली बार लक्जरी क्रूज सेवा (Luxury Cruise Sewa) होगी. इसका उद्देश्य पवित्र नदी के लोकप्रिय घाटों के जरिए भक्तों को एक तरह की आध्यात्मिक यात्रा के साथ एक शानदार अनुभव देना है.

रामचरितमानस थीम

क्रूज सभी लग्जरी सुविधाओं के साथ-साथ जरूरी सुरक्षा सुविधाओं से सुसज्जित होगा. क्रूज के अंदरुनी हिस्से और बोर्डिंग प्वाइंट रामचरितमानस की थीम पर आधारित होंगे.

पूरी तरह से एयरकंडिशनड 80-सीटर क्रूज में घाटों की प्राकृतिक सुंदरता का अनुभव करने के लिए कांच की बड़ी खिड़कियां होंगी. क्रूज रसोई और पेंट्री सुविधाओं से लैस होगा. इसमें जैव शौचालय और पर्यावरण पर ‘शून्य प्रभाव’ के लिए एक हाइब्रिड इंजन प्रणाली होगी.

UP पर्यटन आंकड़ों के मुताबिक हर साल लगभग 2 करोड़ पर्यटक अयोध्या आते हैं. राम मंदिर के पूरा होने के बाद, यह माना जा रहा है कि पर्यटकों की आमद और बढ़ जाएगी.

Ramayan Cruise tour न केवल बड़ी संख्या में पर्यटकों को आकर्षित करेगा, बल्कि यह क्षेत्र में रोजगार के मौके भी पैदा करेगा.

बता दें कि अयोध्या में बन रहे हवाईअड्डे (Airport) का नाम भगवान श्रीराम के नाम पर होगा. हवाईअड्डे का नामकरण ‘श्रीराम हवाईअड्डा’ (Maryada Purushottam Shri ram Airport) किए जाने का प्रस्ताव को UP कैबिनेट से मंजूरी मिल गई. इस बारे में विधानसभा में पारित कराने के लिए प्रस्ताव के मसौदे को मंजूरी दी गई है.

Airports Authority of India को उत्तर प्रदेश सरकार से अयोध्या हवाईअड्डे (Ayodhya airport) से संबंधित प्रस्ताव मिला था. यह हवाईपट्टी NH-27 और NH-330 के बीच सुलतानपुर नाका के पास है. इसी हवाईपट्टी को आधुनिक एयरपोर्ट का रूप दिया जा रहा है.