ममता बनर्जी और उद्धव ठाकरे ने मिलाया सोनिया गांधी से हाथ

0
166

कांग्रेस अध्यक्ष के तौर पर सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) की अंतरिम पारी बड़ी ही चुनौतीपूर्ण रही है. सबसे बड़ा चैलेंज किसी भी मुद्दे पर सारे विपक्षी दलों का साथ न मिलना रहा है.

ऐसे में जबकि कांग्रेस में तूफान मचा हुआ है – ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) का बेहद नरम रूख काफी सुकून देने वाला है. साथ ही, उद्धव ठाकरे की सबको साथ मिल कर लड़ने की पहल और अपील भी मरहम का ही काम कर रही होगी।

GST, JEE और NEET परीक्षा को लेकर सोनिया गांधी की तरफ से बुलायी गयी बैठक में वे सारे अवयव देखने को मिले जिसकी अरसे से विपक्षी खेमे को तलाश थी. ममता बनर्जी और सोनिया गांधी का ‘पहले आप, पहले आप’ वाला सम्मान और उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) की मिलकर

मोदी सरकार के खिलाफ लड़ने की ललकार, मजबूरन ही सही विपक्ष के नये तेवर और इरादे की तरफ इशारा तो कर रही है – लेकिन असली सवाल यही है कि क्या ये जोश टिकाऊ भी रहने वाला है?

GST, JEE और NEET परीक्षा को लेकर सोनिया गांधी की तरफ से बुलायी गयी बैठक में वे सारे अवयव देखने को मिले जिसकी अरसे से विपक्षी खेमे को तलाश थी. ममता बनर्जी और सोनिया गांधी का ‘पहले आप, पहले आप’

वाला सम्मान और उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) की मिलकर मोदी सरकार के खिलाफ लड़ने की ललकार, मजबूरन ही सही विपक्ष के नये तेवर और इरादे की तरफ इशारा तो कर रही है – लेकिन असली सवाल यही है कि क्या ये जोश टिकाऊ भी रहने वाला है?