जीवित रहते तो प्रधानमंत्री बन सकते थे माधवराव सिंधिया

0
91

नई दिल्ली : राजनीति में कई ऐसी शख्सियत होती हैं, जो पार्टी से ऊपर मानी जाती हैं। उन्हीं में से एक थे माधवराव सिंधिया। जिन्होंने जनसंघ में रहकर अपना पहला चुनाव जीता, उसके बाद कांग्रेस में शामिल होकर अपने सभी चुनाव जीते और यहां तक कांग्रेस से अलग होकर निर्दलीय भी रिकॉर्ड मत से विजयी हुए।

माधवराव सिंधिया का व्यक्तित्व ऐसा था कि उन्हें हर कोई पसंद करता था। 30 सितंबर को माधवरा सिंधिया का निधन हुआ था। उनकी पुण्यतिथि पर जानते हैं उनके जीवन से जुड़ी कुछ खास बातें। माधवराव सिंधिया देश के उन करिश्माई नेताओं में शुमार थे, जिन्हें जनता बेहद पसंद करती थी।

क्रिकेट, गोल्फ, घुड़सवारी का शौक रखने वाले सिंधिया आम जनता के लिए बड़ी आसानी से उपलब्ध रहते थे। उन्होंने सरकार में रहते हुए कई ऐसे फैसले लिए जो आज भी याद किए जाते हैं। देश में पहली बार बुलेट ट्रेन का कॉन्सेप्ट माधवराव सिंधिया का ही था।

माधवराव सिंधिया का निधन 30 सितंबर 2001 को यूपी के मैनपुरी में एक विमान दुर्घटना में हुआ था।