सीएम जगन ने किया वन भूमि अधिकार के दस्तावेज वितरण का शुभारंभ

0
128

अमरावती : मुख्यमंत्री वाईएस जगनमोहन रेड्डी ने गांधी जयंती के दिन लगभग डेढ़ लाख आदिवासी किसानों का सपना साकार किया है। मुख्यमंत्री वाईएस जगन ने शुक्रवार को कैंप कार्यालय से वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से लगभग 3 लाख एकड़ भूमि को 1.53 लाख आदिवासी किसानों को दिये जाने वाले आरओएफआर पट्टे वितरण कार्यक्रम शुभारंभ किया है।

इस दौराना सीएम जगन ने किसानों को रैतु भरोसा राशि देने की भी घोषणा की है। उन्होंने इस कार्यक्रम में से एपी में महात्मा गांधी का ग्राामीण स्वराज स्थापित होगा।

दिवंगत मुख्यमंत्री वाईएसआर ने पहली बार आदिवासी किसानों को खेती की जाने वाली वन भूमि पर अधिकार प्रदान करते हुए दस्तावेज वितरित किये थे।

उस समय वाईएसआर ने 1,30,679 एकड़ से संबंधित 55,513 आरओएफआर पट्टे वितरित किए थे। इसके बाद सत्ता में आई सरकार ने आदिवासी कल्याण की उपेक्षा की। अब वाईएस जगन मोहन रेड्डी की सरकार ने एक बार फिर दिवंगत मुख्यमंत्री के कदमों पर चलते हुए

वन भूमि पर आदिवासी किसानों को अधिकार प्रदान करते हुए दस्तावेज वितरण की व्यवस्था की है। इससे संबंधित सीमाओं की पहचान, पत्थर बिछाने, वेबलैंड, डेटाबेस, वेबलैंड और अन्य विवरणों का पंजीकरण पूरा किया जा चुका है।

इसके अलावा पाडेरू मेडिकल कॉलेज सहित आईटीडीए क्षेत्रों में मल्टीस्पेशालिटी अस्पतालों के निर्माण कार्य का भी सीएम जगन शुक्रवार को शुभारंभ किया है।

सरकार ने पहले ही सीतमपेट (श्रीकाकुलम), पार्वतीपुरम (विजयनगरम), रंपचोडवरम (पूर्वी गोदावरी), बुट्टायगुडेम (पश्चिम गोदावरी) और दोर्नाला (प्रकाशम) जिले में अस्पतालों के निर्माण के लिए 246 करोड़ रुपये जारी किए हैं।